Monday, June 26, 2017

Sri Narayan ved vidhya Mandir and Gaushala Karanwas Bulandshahr

श्री नारायण वेद विद्या मंदिर एवम श्री नारायण गौशाला कर्णवास जिला बुलंदशहर उत्तर प्रदेश !!






Ganga Swachhta Abhiyaan by the Youth of Karanwas Bulandshahr

गंगा जी की सफाई के लिए सरकार करोडो रुपये के प्लान बना रही है  हर वर्ष करोडो रुपये खर्च करने का दावा  कर रही है पर कर्णवास में गंगा की सफाई के लिए किसी का भी ध्यान नहीं जा रहा है !! यहाँ पर न कोई सरकार न कोई सरकारी मदद गंगा के सफाई लिए प्राप्त हो पा रही है !!

करवास एक प्राचीन तीर्थ स्थल है एवम हर वर्ष गंगा स्नान के लिए यहाँ पर हजारो यात्री आते है !!


कर्णवास गाँव कर्मठ नौजवान खुद ही आये दिन गंगा जी की सफाई करते है !! गाँव के नौजवान आये दिन इकट्ठे होकर गंगा जी के घाटों की साफ़ सफाई करते है !

वर्ष २०१७ के गंगा की सफाई में जुटे कर्णवास के ही कुछ नौजवान -








































Hanuman Jayanti Celebration at Bade Hanuman Ji mandir Karanwas 2017

कर्णवास में हर वर्ष हनुमान जी के मंदिर पर हनुमान जयंती बड़े ही धूमधाम से मनाई जाती है एवम पूरे गाँव में शोभा यात्रा निकाली जाती है !!

ॐ श्री हनुमते नमः 
मनोजवं मारुततुल्यवेगम् 
जितेन्दि्रयं बुद्धिमतां वरिष्थम् 
वातात्मजं वानरयूथमुख्यं
श्री रामदूमं शरण प्रपद्ये !! 


अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहं
दनुजवनकृशानुं ज्ञानिनामग्रगण्यम् ।
सकलगुणनिधानं वानराणामधीशं
रघुपतिप्रियभक्तं वातात्मजं नमामि !!

वर्ष २०१७ हनुमान जयंती उत्सव के कुछ दृश्य -



Mahashivratri Celebration at Ganga Mandir Karanwas & Bhooteshwar mandir karanwas

हर साल गंगा मंदिर में कावड़िये आके गंगा मंदिर में विश्राम करते है एवम प्रातः काल में कावड़ भगवान् शिव के प्राचीन मंदिर भूतेश्वर मंदिर में चढ़ाई जाती है !!

कर्णवास में प्रसिद्ध भूतेश्वर मंदिर पर हर साल शिवरात्रि पर भक्त जलाभिषेक करते है एवं गंगा मंदिर पर रात्रि में जागरण एवम कावड़ियों के लिए भोजन की व्यवस्था की जाती है !

अथ शिवपञ्चाक्षरस्तोत्रम्

नागेन्द्रहाराय त्रिलोचनाय भस्माङ्गरागाय महेश्वराय ।
नित्याय शुद्धाय दिगम्बराय तस्मै नकाराय नम:शिवाय ॥ 1 ॥

मंदाकिनीसलिलचन्दनचर्चिताय नन्दीश्वरप्रमथनाथ महेश्वराय ।
मण्दारपुष्पबहुपुष्पसुपूजिताय तस्मै मकाराय नम:शिवाय ॥ 2 ॥

शिवाय गौरीवदनाब्जवृन्दसूर्याय दक्षाध्वरनाशकाय ।
श्रीनीलकण्ठाय बृषध्वजाय तस्मै शिकाराय नम:शिवाय ॥ 3 ॥

वसिष्ठकुम्भोद्भवगौतमार्यमुनीन्द्रदेवार्चितशेखराय ।
चन्द्रार्कवैश्वानरलोचनाय तस्मै वकाराय नम:शिवाय ॥ 4 ॥

यक्षस्वरूपाय जटाधराय पिनाकहस्ताय सनातनाय ।
दिव्याय देवाय दिगम्बराय तस्मै यकाराय नम:शिवाय ॥ 5 ॥

पञ्चाक्षरिमदं पुण्यं य: पठेच्छिवसन्निधौ ।
शिवलोकमवाप्नोति शिवेन सह मोदते ॥ 6 ॥

वर्ष २०१७ के कुछ दृश्य -